नालंदा में हर खेत को पानी देने के लिए डिजिटल मैप के आधार पर होगा सर्वे

बिहारशरीफ |  नालंदा जिले (Nalanda News) के प्रत्येक खेत को पानी पहुंचाने के उद्देश्य से शनिवार से सिंचाई व्यवस्था का सर्वे होना है। लेकिन, पहले दिन किसी भी पंचायत में सर्वे शुरू नहीं हो सका। सर्वे करने की जवाबदेही कृषि विभाग (Agriculture Department Bihar) के कृषि समन्वयक और कृषि सलाहकारों को दी गयी है। विडंबना यह कि ऑनलाइन होने वाले सर्वे के लिए समन्वयकों को न प्रशिक्षण दिया गया और न ही अबतक नक्शा ही मिल पाया है।

लेकिन, सर्वे के बाद डाटा को किस प्रकार ‘App’ में Online करना है। इसकी कोई जानकारी नहीं दी गयी है। ऐसे में परेशानी उठानी पड़ रही है। सर्वे के दौरान भूमि से संबंधित अभिलेख के बारे में आवश्यक जानकारी प्रत्येक राजस्व ग्रामवार राजस्व कर्मचारी व अंचल निरीक्षक को देना है।

बिन नक्शा कैसे करें सर्वे

कृषि समन्वयक संघ के अध्यक्ष रवि रंजन सिंह बताते हैं कि उनकी जानकारी में अबतक किसी भी समन्वयक को नक्शा नहीं मिल पाया है। नालंदा जिले (Nalanda News) में 106 कृषि समन्वयक हैं। बिना नक्शा सर्वे करना संभव नहीं हो रहा है। खेतों में पानी भी भरा हुआ है। खासकर कतरीसराय इलाके के कई खंधे में जलभराव हो गया है।

NALANDA REPORTER

नक्शा प्रिंट करने में लगेंगे 9 दिन

बिहारशरीफ अंचल (Biharsharif News) कार्यालय में डिजिटल नक्शा प्रिंट करने वाली मशीन लगी हुई है। इसकी क्षमता एक दिन में 100 नक्शा प्रिंट करने की है। अबतक 153 नक्शा का प्रिंट किया गया है। जबकि, नालंदा जिले में करीब 11 सौ राजस्व गांव हैं।

क्या कहते हैं अधिकारी

प्रभारी डीएओ अनिल कुमार ने बताया कि कृषि समन्वयकों को सर्वे के बारे में सारी जानकारियां दे दी गयी हैं। लेकिन, नक्शा अबतक बिहारशरीफ अंचल कार्यालय से 153 राजस्व गांवों का ही मिला है। जिन प्रखंडों को नक्शा नहीं मिला है, वहां के बीएओ को सीओ से संपर्क कर नक्शा लेने को कहा गया है। उम्मीद है कि सोमवार से सर्वे का काम शुरू हो जाएगा।

Nalanda News से जुड़े, ताजा अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें।

Share on:

Nalanda Reporter is Bihar Leading Hindi News Portal on Crime, Politics, Education, Sports and tourism.

Leave a Comment